Religious festivals, rituals & Tattva Shakti Vigyaan

हमें ‘पर्व’ के सिद्धांत को समझ लेना जरूरी है । पर्व का अर्थ है पूर्ण, भरा हुआ, जुड़ा हुआ अथवा गाँठयुक्त । इस तथ्य के प्रकाश में इस जगत में जहां भी पूर्णता या संक्रांति परिलक्षित होती है – वह पर्व है, ऐसा जानना चाहिए । पर्व के समय रजोगुण प्रधान रूप से होता है….